About Me

Jio, Airtel, Idea-Vodafone price hikes | Reason behind the rise in rates | Explained in Hindi

पिछले कुछ समय में हमने देखा Telecom Companies के जो tariffs है वो लगातार बढ़ रहे है Jio, Airtel, Vodafone-Idea इन कंपनीज tariffs लगभग 40% बढ़े है,तो अचानक बढ़ रही इन price से लोगों के मन में सवाल आ रहा हे की यह prices कब तक बढ़ेंगे?
Telecom Companies tariffs RATE
Telecom Companies tariffs

Telecom Sector Explain

Jio आने से पहले 2016-17 तक सबकुछ बहुत सही चल रहा था Telecom Companies अच्छा Revenue कमा रही थी अच्छा खासा प्रॉफिट कमा रही थी जैसे की अगर Airtel की बात की जाय तो 2016-17 तक Airtel 6000-7000 Crore का प्रॉफिट कमा रहा था , idea भी अच्छा खासा प्रॉफिट कमा रहा था,लेकिन 2016-17 के बाद यानि jio आने के बाद यह इस्थिति पूरी तरह बदल गई, तो JIO आने के बाद इस इंडस्ट्री में price war शुरू हो गया। Reliance communication और Aircal तो इस Price-War  में टिक हे नहीं पाए, Tata docomo भी अपने ग्राहक Airtal को देने पड़े, और Airtel, Vodafone-Idea पर भी काफ़ि प्रभाव पडा, इस Telecom war का प्रभाव सारी Telecom Companies की Revenue और Profit पर पडा और ज्यदातर Competition के चलते उन्हे अपनी-अपनी prices काफ़ि कम करनी पडी।


अगर Telecom Sector की बात की जाये तो Telecom Company चलना एक Capital Intensive Business हे, Telecom Company शुरु करने और उसे खडा करने मे काफ़ि पेसा लगता हे, पिछले कुछ समय में हमने देखा Telecom Companies के जो tariffs है वो लगातार बढ़ रहे है Jio, Airtel, Vodafone-Idea इन कंपनीज tariffs लगभग 40% बढ़े है,तो अचानक बढ़ रही इन price से लोगों के मन में सवाल आ रहा हे की यह prices कब तक बढ़ेंगे?



अगर Telecom Sector की बात की जाये तो Telecom Company चलना एक Capital Intensive Business हे, Telecom Company शुरु करने और उसे खडा करने मे काफ़ि पेसा लगता हे, Telecom Companies को सरकार को समय -समय पर Spectrum  खरीदने के लिए काफी पैसा यानि फीस देना होता है साथ हे उन्हें licence फीस भी देना होता है और नई Technology में भी उन्हें Investment करनी होती हैं इन सारी चीजों के लिए उन्हें काफी ज्यादा पैसों की जरुरत होती है जिसके लिए वो काफी ज्यादा लोन लेते है, तो अगर किसी Telecom company के इतने ज्यादा खर्चे हे उन्हें अपनी Pricing भी वैसी रखनी होगी और अपने Expansive को Recover भी करना होगा तो जो भी Telecom Companies फिलहाल  उपस्थित हे उन्होंने कई सारा पैसा अपने Business में डाला है, कई साड़ी investment की हे जैसे की अब नई Technology 5G आ रही हे जिसके लिए भी इन Telecom Companies को काफी सारा Investment करनी होगी।




अगर इन Telecom Companies के Debt की बात की जाय तो Reliance jio पर 1 लाख करोड़  से अधिक कर्ज है Airtal पर करीब 90,000 करोड़ व Vodafone-Idea पर भी  1 लाख करोड़  से अधिक कर्ज है।  तो अगर इन Telecom Companies को अलग-अलग fees देनी है Technology में Investment करना है तो साथ ही अपना Debt Repay करना हे तो उसके लिए उन्हें जरुरत हे एक अच्छे खासे ARPU( Average Revenue Per User)  की।
तो पिछले कुछ सालों  में Telecom Companies को काफी नुकसान हुवे है Vodafone-India  की हालत तो ऐसी हो गई की उन्हें Merger करना पड़ा और उसके बाद  उनकी हालत सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। FY 2020 में Vodafone-Idea को 50000 करोड़ का घाटा हुवा है वहीं Q2 FY 2020 JIO को 990 करोड़ का फायदा हुवा है, Jio  की बात की जाये तो अगर कंपनी इसी तरह चलती रहे  काफी समय लगेगा अपना Debt चुकाने में और मुकेश अंबानी ने खा है की उन्हें 2 साल लगेंगे Debt Free होने में, जिसके लिए उनके लिए जरुरी हे ज्यादा से ज्यादा Revenue और प्रॉफिट को बढ़ाना।


Post a Comment

0 Comments